यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

शुक्रवार, 9 जुलाई 2010

आज

आज,
अपने ही कुत्तों को
पत्थर उठाकर
मार दिया मैंने
क्यूँकि भूँकते थे
वो
उन हाड़-तोड़ मेहनत करते
सेल्समेनों
पर........।

3 टिप्‍पणियां:

रश्मि प्रभा... ने कहा…

bahut khoob

पंकज मिश्रा ने कहा…

आपको बहुत बहुत बधाई और धन्यवाद।

BrijmohanShrivastava ने कहा…

आप को सपरिवार दीपावली मंगलमय एवं शुभ हो!
मैं आपके -शारीरिक स्वास्थ्य तथा खुशहाली की कामना करता हूँ